भूत की कहानी

भूत की कहान

एक  शहर की बात है ।  एक घर था जो बहुत पुराना था । वह घर को कई लोगो ने खरीदा था। लेकिन उनका
किसी ना किसी घटना से मृत्यु हो जाती थी ।

एक दिन सुरेश नाम का व्यक्ति उस घर को खरीद लेता है और  वह भी बिलकुल सस्ते भाव मे और अपने
बेटे रामु के साथ रहने लगता है।

उसे उस घर को खरीदे एक दो दिन ही हुआ था  कि सुरेश को घर मे किसी की मोजुदगी मह्सुस होने लगी थी ।
तीसरे दिन ही  रामु ने कहा :- पापा वाशरूम का नल अपने आप चालू होकर बंद हो गया था।

सुरेश ने कहा  :- कोई था वहा पर ?

रामु :- हा पापा एक साड़ी पहेनी औरत थी फिर रामु ने  कहा पापा वो औरत आपके पिछे खड़ी हैं ।

भूत की कहानी :   

 
सुरेश :- अभी वो क्या कर रही है । रामु :- वो आगे जा रही है ।

भूत की कहान

तब सुरेश डर गया और रामु के पास आ गया । उसी दिन सुरेश एक कुता खरीद कर लाया ।
कुता भी घर आने के बाद यहा वहा भोकता था ।

चौथे दिन खुब तेज बरसात होने लगी   और आँधी आ गयी थी।  तब सुरेश घर के दरवाजे  खिड़की बंद कर
रहा था । उसी समय बिजली भी चली गई थी। तभी घर मे वापस साड़ी वाली औरत का अना जाना शुरू हो गया ।

भूत की कहानी:   

 
सुरेश ने  डर से वापस खिड़की खोल दी ।

और बाहर देखा तो सभी के घर बिजली थी बस उसी के घर में  नही थी । सुरेश टॉर्च लेकर घर के निचे पावर हाउस मे गया तो

उसके पीछे  उसका कुत्ता भोकते आने लगा । सुरेश ने  जेसे पावर हाउस का दरवाजा खोला तो उसे वहा एक डेडबॉडी

भूत की कहान

दिखाई दी । सुरेश डर गया और तुरंत वहा से भागा और अपने बेटे रामु को लेकर घर के दरवाजे बंद करे और  घर से भागने लगा

बारिश बहुत तेज हो रही थी सुरेश अपने बेटे रामु के साथ  भाग रहा था तभी सुरेश  का पैर एक खड्डे मे अटक गया।

भूत की कहानी: 

 
रामु  सुरेश को निकलना चाहता था  लेकिन कोई उसे खिच रहा था । रामु ने  खुब कोशिश की । लेकिन सुरेश का पैर नहीं निकला

रामु सुरेश का पैर निकाल ही रहा था की वो मरी हुई औरत सुरेश के पीछे खड़ी थी रामु उसे देखते ही दर गया और पीछे हटा तभी उस मरी हुई

औरत ने रामु को अपने बस में  किया और कुत्ते और रामु को ले के घर की ओर चली गई सुरेश अपना पैर
निकालने की कोसिस करता रहा ।

सुरेश को निकलने मे पाँच मिनट लग गया। और  वह वापस घर मे गया  तो दरवाजा खुला था । सुरेश ने

भूत की कहानी:

राज और कुत्ते को खुब ढूँढा लेकिन उसे राज और कुत्ता कही भी नही दिखाई दिये । तोसुरेश बहुत रोया और वही घर में रहने लगा

एक दिन  सुरेश के घर में उसका पडोसी आया सुरेश घर में नहीं था तो उसका पडोसी सुरेश के घर के अंदर चला जाता है

तभी उसकी नजर उस मरी हुई औरत बच्चे और कुत्ते में  पड़ती हैउसका पडोसी दर जाता है और घर से दौड़ते हुए बहार निकलता है जैसे ही उसका पडोसी दरवाजे के बहार निकलता है

भूत की कहान

तो सुरेश उसे दरबाजे के पास मिल जाता है सुरेश का पडोसी बोहोत डरा होता है सुरेश पूछता है की क्या हुआ उसका पडोसी कहता है की मैंने तुम्हारे घर के अंदर भूत देखा है एक औरत जो काली सही में थी ,बचा और एक कुत्ता था.

Published By – Kaushlendra Kumar

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *