Love poems,कविता,हिंदी कविता

” जिस दिन से आये हो तुम मेरी जिंदगी में 
   उस दिन से तुमने मेरी जिंदगी बदल दी है,
  
 अब तुम्हारी लत कुछ इस तरह से लगी है 
 की नतो नीद सही से आती है और नहीं चैन,

  इस दुनिया में अगर तुम नहीं हो तो ये दुनिया भी बेरंग है,
  आंखें खोलता हूँ तो दीदार तुम्हारा होता है 
 अगर बंद करता हूँ तो स्वपन तुम्हारा होता है 
 हमें मरने के लिए हर लम्हा मंज़ूर है, 
 बस कफ़न के बदले आँचल तुम्हारा होना चाहिए 
कोई कर न ले साज़िश तुझे चुराने की इस बात से डरता हूँ”

Love poems

“खुश तो बहुत हूँ फिर भी डरता  हूँ,

 तेरा दिल बदल न जाये इस डर से तेरी आँखों को पढ़ता हूँ,

  रचने वाले ने क्या सोच कर रचा है तुझे,
  हर गली  हर मुहल्ले और हर जुबान पर हैं चर्चे तेरे,
  और हर जगह बट रहे है प्यार के पर्चे तेरे,

   सुना है मेरी जान कई शाहजहां तेरी चाहत में बनवा रहे हैं महल,
   हमने  सोचा हम भी बन जाते है तेरे प्यार में कावी

   इस जालिम दुनिया ने  कर दिया है मुझे कवि,
    हर जगह बस दिख रही तेरी ही छवि”

Love poems

“तेरी खूबसूरती का दीवाना हर कोई है ,

तेरी नज़रों का दीवाना हर कोई है ,

जब कभी पूछो ज़माने से कुदरत की खूबसूरती क्या है,
तब सिर्फ तेरा नाम बताता हर कोई है 

तेरा जब कोई मुझसे पता पूछता है तो मैं उसको भटकाता हूँ,
तुझको अपनी  आँखों के सामने रखने की कोशिश करता हूँ “
  

Leave a Comment